क्रिप्टो करेंसी में कैसे कैसे लगाया जाता है, लोग कैसे पैसे कमा रहे हैं हम आपको क्रिप्टोकरंसी से रिलेटेड सभी सवालों के जवाब देंगे शायद आप सभी इस को लेकर सोचते होंगे तो उन सभी सवालों का जवाब मिल जाएगा

क्रिप्टो करेंसी क्या है

जैसे पूरी दुनिया के अलग-अलग देशों की अलग-अलग करेंसी होती है और उसी प्रकार क्रिप्टो करेंसी भी एक करेंसी है जिस पर किसी का कंट्रोल नहीं है और इसको हम डिजिटल करेंसी कहते हैं

जैसे हम दुनिया के अलग-अलग देशों की करेंसी को कहते हैं जैसे यूनाइटेड स्टेट की करेंसी को हम डॉलर कहते हैं

और इंडिया की करेंसी को INR उसी प्रकार क्रिप्टो करेंसी भी यूनिवर्सल डिजिटल करेंसी है जिसमें बहुत सारी करेंसी आती है       जैसे Bitcoin, Ethereum, Ripple और भी 6-7 हजार कैरेंसी है

क्रिप्टो करेंसी को बनाने की जरूरत क्यों पड़ी

यह बात 2008 की है जब अमेरिका के अंदर बहुत बड़ा फाइनेंसियल क्राइसेस आया था और इसमें बहुत सारे लोगों के पैसे डूब गए थे असर पूरी दुनिया पर पड़ा था

2008 में शेयर मार्केट में बहुत बड़ा क्राइसिस आया जिससे लोगों के पैसे डूब गए बड़ी-बड़ी कंपनियां लोगों पैसे लेकर भाग गई

 लोगों की मेहनत के पैसे कोई ओर ले जाये फिर एक व्यक्ति ने सोचा कि मैं एक ऐसी करेंसी बनाऊंगा जिसका कंट्रोल खुद आदमी के हाथ में हो जिसके वह पैसे हो और इसमें कंपनी जाए या कुछ  हो पैसे उसी के पास रहते हैं

क्रिप्टो करेंसी का फुल फॉर्म

Cryptocurrency = Crypto + Currency Crypto - गोपनीय मतलब कि गोपनीय पैसे इस करेंसी को कोई भी नहीं देख सकता है सिर्फ वही व्यक्ति देख सकता है जो व्यक्ति भेजता है

इस करेंसी को कोई भी नहीं देख सकता है सिर्फ वही व्यक्ति देख सकता है जो व्यक्ति भेजता है और जो व्यक्ति रिसीव करता है इसके अलावा कोई भी इस करेंसी को नहीं देख सकता

क्रिप्टो करेंसी किसने बनाई

इस करेंसी को Satoshi Makamoto नाम के एक व्यक्ति ने बनाई थी लेकिन आपको बता दें कि यह व्यक्ति का आज तक कोई अता पता कि वह कहां है

कहां रहता है इस प्रकार की कोई भी जानकारी नहीं है यह व्यक्ति इस क्रिप्टो करेंसी को बनाने के बाद ही पता नहीं कहां गायब हो गया

क्रिप्टो करेंसी में इन्वेस्ट कैसे करें

लोग करोड़ों कमा रहे हैं जब 2009 में सबसे पहली क्रिप्टो करेंसी बिटकॉइन पाई गई उसकी प्राइस कुछ भी नहीं थी और इस बात का किसी को पता भी नहीं था

बिटकॉइन क्या होता है जब इसकी प्राइस 0 के बराबर थी जब धीरे-धीरे लोगों को पता चला कि बिटकॉइन भी कोई करेंसी है और इसको लोग खरीदते हैं और बेचते हैं और इससे लोग पैसा कमा रहे हैं

क्रिप्टो करेंसी से लोग पैसे कैसे कमा रहे हैं

इस बात को समझने के लिए यदि कोई व्यक्ति 2010 में 1 बिटकॉइन भी खरीदा तो आज तो आज इसकी कीमत ₹3300000 है मतलब दिनों दिन इसकी प्राइस बढ़ रही है

उस टाइम किसी व्यक्ति ने ₹2 85 पैसे का बिटकॉइन खरीद कर रख लिया होगा और उसने भेजा नहीं होगा तो आज एक बिटकॉइन की प्राइस 33 लाख के बराबर है तो इसी को ही क्रिप्टो करेंसी में फायदा होना कहते हैं